Untitled Episode
Listen now
Description
बहुत जरूरी है कि हम उस उचित स्थान को तय कर दें जिसके न मिलने पर आए दिन राजनीति होती है. तय किया जाना चाहिए कि उचित स्थान का क्या मतलब है और ये कहां पर होता है. इतिहास के जिस मुद्दे को इतिहास की कक्षा में उचित स्थान मिलना चाहिए उसे लेकर टीवी पर चर्चा है और वर्तमान के जिस मुद्दे को मीडिया में उचित स्थान मिलना चाहिए उसके लिए कोई स्थान नहीं है. आम लोगों के लिए पेट्रोल और डीजल के दाम उनकी चिन्ता रेखाओं में पहली हेडलाइन की तरह मौजूद है लेकिन अखबारों और चैनलों के समाचारों में पेट्रोल और डीजल के दाम संक्षिप्त खबरों के कॉलम और स्पीड न्यूज के हवाले कर दिए गए हैं.
More Episodes
Published 12/03/21
जैसे-जैसे पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव करीब आ रहे हैं, सियासी सरगर्मियां बढ़ रही हैं. रैलियों का दौर चल रहा है. अरविंद केजरीवाल पंजाब में, प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में, तो अखिलेश यादव बीजेपी के गढ़ बुंदेलखंड में तीन दिन से रैलियां कर रहे हैं.
Published 12/03/21
भारत एक 'सीरियस प्रधान' देश है. हम भारतीयों की सीरियसता की खास बात ये है कि हम हर बात को गंभीरता से लेते हैं. हंसने से पहले और हंसने के बाद सीरियस होना, हमारी सीरियसता का अभिन्न अंग है. हंसना दो सीरियसताओं के बीच एक छोटा सा ब्रेक है.
Published 12/02/21