National Interest: मंदिर या मस्जिद? नए सर्वे की जरूरत नहीं, बस सच्चाई को स्वीकार कर सुलह की ओर बढ़ें
Listen now
Description
यह तो निर्विवाद तथ्य है कि मंदिर तोड़े गए और मस्जिदें बनाई गईं, अब उस इतिहास को बदला नहीं जा सकता लेकिन सौहार्द पर विचार करने से पहले हम अतीत की गलतियों से इनकार नहीं कर सकते. ----more---- https://hindi.theprint.in/opinion/national-interest/mandir-or-masjid-new-surveys-not-needed-just-acceptance-of-truth-move-towards-reconciliation/328078/ 
More Episodes
हैदराबाद में  हेमंत बिस्वा सरमा, योगी आदित्यनाथ और वसुंधरा राजे को सम्मान और प्रशंसा मिली लेकिन समारोह की सारी कार्यवाही पीएम मोदी के इर्द-गिर्द ही रही.
Published 07/06/22
Published 07/06/22